कोप भवन

कनक भवन हनुमान गढ़ी की दायी दिशा में स्थित है। उसी के समीप कोप भवन स्थित है। यह लोगों की धारणा है कि रानी कैकेयी ने महाराजा दशरथ से कुछ वर्ष पूर्व दो वरदान माँगे थे तथा वचन लिया था कि उचित समय आने पर वरदान देने के वचन को पूर्ण किया जाय। मंदिर में, रानी कैकेयी की मूर्ति क्रोध की मुद्रा में है और महाराजा दशरथ की मूर्ति उदास की मुद्रा में है राम और लक्ष्मण की मूर्तियां हैं जो महराजा दशरथ से वन जाने की अनुमति मांग रहे हैं साथ साथ मंथरा की भी मूर्ति जो इस षड़यंत्र की रचियता थी। यह अयोध्या का एक चर्चित मंदिर है।